” Jindgi मे सकारात्मक सोच से ” जीयो” “मन का मनुष्य जीवन पर बड़ा” “प्रभाव है। इसे समझना भी है, “हमे

સમાચાર

” Jindgi मे सकारात्मक सोच से
” जीयो”

“मन का मनुष्य जीवन पर बड़ा”
“प्रभाव है। इसे समझना भी है,
“हमे–
” तो हरेक को एक संकल्प से ”
” सोच से समझकर हल निकाल ”
“होगा ही–जैसे

” जीवन मे ज्यादा बोझ लेकर ”
” चलने वाले लोग ,अक्सर डूब”
” जाते है, चाहे वह अभिमान ”
” का हो, या सामान का हो ।।
प्रतिज्ञा
” मन ह्रदय से आज से ले हम”
” झूठे अहंकार से कोसो दूर ”
जीवन मे रहेगे।।
” मुस्कान और मुस्कुराहट से हर
“पल गुजारेगे।
” जय सियाराम- जय श्रीकृष्णा

“लेखक रमेश कुमार
“अच्छा लगे तो राम राम लिखना
“होगा ।।

TejGujarati