” चुनोतियो से डरो मत” – रमेश सिधानियाँ।।

સમાચાર

” वक्त की मार सबको लगी,”
” चुनोतियो की झड़ी लगी”।
” जिंदगी मे सबको लड़ाई ,
” हौसले से अब लड़नी होगी।।

” किसी ने कभी ख्वाब मे सोचा”
” भी ना होगा”
” एक दिन हम सबको परिवार के
” संग घरो मे रहना होगा ।।

” आज जब मै सोचता हूँ, तो मेरे
” रोंगटे खड़े हो जाते है ।
” पहले तो मात्र रात मे तारे दिखते
” थे, अब दिन मे भी दिखते है।।

“इम्तेहान की घड़ी हे दोस्तो कुछ
” समय से पहले समझना दोस्तो ।
” मन मंन्दिर मे नित्य नियम से ”
” तुम जिंदगी मे रोशनी करो।।

” हर कोई अपना है, कोई को भूल
” से तुम पराया मत समझो।
” कोशिश करो मुस्कान से सबकी
” तुम आगे बढकर मदद करो।।

” दिल है कि मेरा कि मानता नही”
” बार बार मै सोचता हूँ ।।
” जान है तो जहान है मै इस बारे
” मे मै बार बार सोचता हूँ ।।

” आओ एक संकल्प ले दिल से ”
” चुनोतियो से अब हम लडे।।
” जीवन मे जीत निश्चित रूप से,
” पक्की हे, चुनोतियो से हम लड़े।

लेखक आपका भाई रमेश सिधानियाँ।।

TejGujarati