” जीवन मे एक बस, वक्त की मार ” भारी ,नुकसान दायक होती है । ” जीवन मे जो धैर्य से पालन करे” ” वही जीवन मे फूलो की महक ” ” होती है”।

સમાચાર

” केसै भूले गम को, कोई समझाये

” जीवन मे एक बस, वक्त की मार
” भारी ,नुकसान दायक होती है ।
” जीवन मे जो धैर्य से पालन करे”
” वही जीवन मे फूलो की महक ”
” होती है”।

” वक्त बदलता है हरेक का, जैसै”
” सत्य कहूँ, सूर्य और चादँ का”।
” प्रभात की किरणो से दिन उगता
” चाँदनी रात मे चादँ सितारो का”
“जमवाड़ा चमके”।।

” सम्पूर्ण जीवन मे कभी खुशी तो
” कभी गम भी आयेगे, जो गम ”
” को सह जाये, वही जीवन मे ”
” आगे मुस्कान, मुस्कुराहट से”
” बढ़ पायेगे”।।

” रात का वक्त, अब हो चला”
” सोने की अब , तैयारी होगी”
” कल जब मै नीद से जागा” सुबह
” आप की मेरी मुस्कान से मुला”
” कात दुबारा होगी”।

जय श्रीराम जय श्रीकृष्णा

रचीयता रमेश भाई

TejGujarati
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •